second generation computer | द्वितीय पीढ़ी कंप्यूटर

second generation computer | द्वितीय पीढ़ी कंप्यूटर


दोस्तों वर्तमान समय में कंप्यूटरों का प्रयोग हर जगह हर स्थान पर अधिकतर किया जाता है। अगर एक दिन मुझे कंप्यूटर में कोई समस्या आ जाए या सर्वर की समस्या आ जाए तो सारा काम बंद पड़ जाता है । तो आज हम आपको बताने वाले हैं। द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटर (second generation computer) के बारे में द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटर (second generation computer) को कब लाया गया । द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटर (second generation computer) में किसका प्रयोग किया जाता था। तो द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटर (second generation computer) के बारे में पूरी जानकारी के लिए आप लोग हमारे इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़िए ।

प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर (first generation computer) के बारे में हम पहले ही अपने आर्टिकल में बता चुके हैं के प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर (first generation computer) किस प्रकार के थे । इस में किसका प्रयोग किया जाता था और इन्हें कब लाया गया प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर के बारे में जानने के लिए आप लोग नीचे दिए गए लिंक पर जाकर प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर (first generation computer) के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।



Read all-
First generation of computer ( प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर)


second generation computer

      second generation computer


second generation computer ( द्वितीय पीढ़ी कंप्यूटर )


द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटरों ( second generation computer ) में लगभग 1955 के प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटरों में वैक्यूम ट्यूब के स्थान पर छोटे ट्रांजिस्टरों ने उनका स्थान ले लिया। क्योंकि ट्रांजिस्टर वेक्यूम ट्यूब से बेहतर थे। ट्रांजिस्टर इलेक्ट्रॉनिक ट्यूब के हिसाब से छोटे होते हैं और इनकी कार्य की गति अत्यधिक तेज होती है क्योंकि इनमें कोई तंतु नहीं था और ना ही ताप की आवश्यकता होती है। हम आपको बता दें कि ट्रांज़िस्टर का अविष्कार William Shokley तथा उनकी सहयोगी वैज्ञानिक टीम ने 1947 में अमेरिका में किया था।

द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटरों ( second generation computer ) की उत्पादन लागत भी कम थी इस प्रकार से कंप्यूटर का आकार स्वता ही छोटा हो गया था क्योंकि द्वितीय पीढ़ी ने ही सीपीयू (CPU) भाग को शामिल किया गया तथा मेमोरी प्रोग्रामिंग भाषा और इनपुट/आउटपुट का विकास किया गया। प्रोग्रामिंग भाषा जैसे कोबोल, फोर्टने (Fortran, Cobol, Algol, Snobal) आदि का विकास द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटरों के समय में ही किया गया।

द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटर (second generation computer) कुछ इस प्रकार के थे-

IBM 1620- IBM 1620 कंप्यूटर प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटरों से काफी छोटा था इस कंप्यूटर का प्रयोग मुख्य रूप से वैज्ञानिक कार्यों के लिए किया जाता था ।

IBM 1401- IBM 1401 कंप्यूटर का आकार छोटे से माध्यम तक था और इस प्रकार के कंप्यूटर का प्रयोग व्यापारिक कार्यों के लिए ही किया जाता था ।

CDC 3600- CDC 3600 कंप्यूटर का आकार बड़ा था और इस कंप्यूटर का भी प्रयोग वैज्ञानिक कार्यों के लिए ही किया जाता था।


दोस्तों यदि आप भी सरकारी नौकरी से संबंधित जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप लोग नीचे दिए गए लिंक पर जाकर YOUTUBE CHENAL को सब्सक्राइब करें इस CHENAL के माध्यम से आप लोगों को सरकारी नौकरी से संबंधित जानकारी समय समय पर मिलती रहेगी।

लिंक-https://youtube.com/channel/UCNMnEkiS8rcaJH5CfIKzZ0g



Post a Comment

0 Comments